उम्र बढ़ाने का नुस्‍खा, जिंदगी के कुछ और साल बढ़ाएं

मॉडर्न लाइफस्‍टाइल में उम्र घटने की बात तो सब कहते हैं, अब ये उम्र बढ़ाने का नुस्‍खा कौन सा है । आगे पढ़ें और इस सवाल का जवाब पाएं ।

New Delhi, May 15 : भागती दौड़ती जिंदगी में सेहत को सबसे बड़ा नुकसान उठाना पड़ रहा है । काम की आपाधापी में खान पान का सही ना होना, जीवनशैली का अस्‍त व्‍यस्‍त होना हमारे स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित कर रहा है । एक ओर ऐसी भागती जिंदगी है तो दूसरी ओर बढ़ता प्रदूषण हमारी उम्र पर हावी हो रहा है । समय से पहले जानलेवा बीमारियों की दस्‍तक हमें अनजाने डर की ओर धकेल रही है । ऐसी कॉम्‍प्‍लीकेटेड जिंदगी में सुकून के कुछ पल मिलना मुश्किल लगता है । लेकिन इसी सुकून में छिपा है आपकी उम्र का राज ।

Advertisement

रिसर्च में आया सामने
बचपन में जब आप कलास में शोर मचा रहे होते थे तो टीचर आपको क्‍या कहती थी, साइलेंस प्‍लीज, कीप क्‍वाइट । तब ऐसे कई शब्‍द थे जो हमें स्‍टेचू की तरह शांत बैठने पर मजबूर कर देते थे । लेकिन उस शांत माहौल में भी कितना सुकून था । तनाव नहीं था । बस यही साइलेंस है आपकी उम्र बढ़ाने की चाभी । रिपोर्ट के मुताबिक आपका मौन रहना, चुपचाप रहना, बेवजह चीखना चिल्‍लना नहीं, आपकी उम्र को 8 साल बढ़ा सकता है ।

Advertisement

शरीर पॉजिटिव रहता है
शांत रहना आपके पूरे शरीर के लिए पॉजिटिवली काम करता है । आसपास बढ़ता शोर जहां हमारी सुनने की क्षमता को प्रभावित कर रहा है तो वहीं ये दिल के रोग, लो इम्‍यूनिटी सिस्‍टम और इनसोमनिया का शिकार भी बना रहा है । इस रिपोर्ट के मुताबिक बढ़ते शोर के चलते मानसिक तनाव भी बढ़ा है । तनाव हमें डिप्रेशन की ओर ले जाता है जिसके बाद इंसान कई तरह की परेशानियों से जूझने लगता है ।

तनाव हमें फोकस नहीं होने देता
तनाव में रहने की वजह से हम फैसला नहीं ले पाता, हमारी क्रिएटिविटी खतम होने लगती है साथ ही हम लक्ष्‍य से भी भटक जाते हैं । इसलिए तनाव को छोड़ना ही एक अच्‍छी जिंदगी जीने का कारण बन सकता है । जितना हो सके कोशिश करें, शांत रहने की, चुप रहने की । बेवजह जवाब देने, चीखने चिल्‍लाने में क्‍रूा रख है ।

मैमोरी बढ़ती है, उम्र बढ़ती है
रिपोर्ट के मुताबिक हम जब शांत रहते हैं तो दिमाग में नई कोशिकाएं बनती हैं, हमारी मैमोरी तेज होती है और हमारी सीखने – समझने की क्षमता भी मजबूत होने लगती है । डिप्रेशन और अल्‍जाइमर जैसी परेशानी कम बोलने वाले व्‍यक्ति को परेशान नहीं करती । इसके अलावा चुप रहने से आप ज्‍यादा फोकस हो सकेंगे, अपने लक्षय की ओर । इसलिए रोज चाहे मिनटों के लिए ही सहीं शांत बैठने की आदत डालें ।