न्यूजीलैंड की यूनिवर्सिटी में टॉपर बनीं बिहार की शानिनी, परिवार की खुशी का ठिकाना नहीं

बिहार के लखीसराय की शानिनी ने परिवार, राज्‍य के साथ देश का नाम भी रौशन किया है । उन्‍होने जॉब के साथ पढ़ाई का ऐसा तालमेल बैठाया कि आज उन्‍हें ‘बेस्ट वुमन स्टूडेंट ऑफ यूनिवर्सिटी’ का अवॉर्ड दिया गया है ।

New Delhi, May 30 : लड़कियां किसी से कम नहीं, भारत की लड़कियां देश में तो नाम ऊंचा कर ही रही हैं, विदेशों में भी उनका नाम शान से लिया जा रहा है । भारत में 10वीं और 12वीं के नतीजों में जहां लड़कियों ने ही अव्‍वल आकर एक बार फिर ये साबित किया है कि बेटियां बेटों से कम नहीं है वहीं बिहार की एक लड़की ने शादी के बाद जॉब और जॉब के साथ शिक्षा के क्षेत्र में तत्‍पर रहने का नया माइलस्‍टोन कायम किया है ।

Advertisement

बिहार की शानिनी कुमारी
बिहार के लखीसराय की रहने वाली शानिनी की शादी 2009 में हुई थी, पति के साथ न्‍यूजीलैंड रहने आईं शानिनी ने कुछ समय बाद वहीं एएनजेड बैंक में नौकरी शुरू कर दी । शिक्षक परिवार से होने के कारण शानिनी का आगे पढ़ाई का भी मन था । इस सोच में उनके पति ने भी उनका साथ दिया और कुछ सालों बाद उन्‍होने वेलिंगटन यूनिवर्सिटी में इनफॉर्मेशन टेक्‍नॉलजी की पढ़ाई में एडमिशन ले लिया ।

Advertisement

अवॉर्ड से किया गया सम्‍मानित
शानिनी ने पिछले वर्ष ही अपनी ये पढ़ाई पूरी की है, लेकिन उन्‍होने सिर्फ पढ़ाई ही पूरी नहीं की बल्कि उन्‍होने न्यूजीलैंड में जॉब करते हुए वेलिंगटन विश्वविद्यालय में इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (प्रोग्रामिंग)-2017 में टॉप किया है । शानिनी को ‘बेस्ट वुमन स्टूडेंट ऑफ यूनिवर्सिटी-2018’ से सम्मानित किया गया है । वह भारत की एक मात्र ऐसी सौभाग्यशाली छात्रा मानी जा रही हैं।

परिवार में खुशी का माहौल
बेटी को मिले इस सम्‍मान से उनके गृह नगर लखीसराय में खुशी का माहौल है । परिवार की बिटिया के टॉप करने, सम्मानित होने पर उनकी मां मंजू देवी और पिता शशिभूषण कुमार की तो खुशी का ठिकाना नहीं है । उनके पैतृक घर और आसपास के लोग अपनी बेटी की विदेश में इस बड़ी कामयाबी का जश्‍न मना रहे हैं । शिक्षक परिवार से आने वाली शानिनिकी का विवाह भी एक ऐसे ही परिवार में हुआ जिन्‍होने उन्‍हें शादी के बाद भी कभी इसके लिए रोका नहीं ।

शुरुआती शिक्षा
लखीसराय (बिहार) के बालगुदर उच्च विद्यालय के प्रिसिंपल शशि भूषण कुमार की बेटी शानिनी की शुरुआती पढ़ाई-लिखाई लखीसराय के सरकारी महिला विद्या मंदिर से हुई है ।  2000 में दसवीं के बाद भागलपुर के एसएम कॉलेज से आईएससी पास किया । पहले साइंस स्ट्रीम, फिर आर्ट स्ट्रीम । 2005 में इकोनॉमिक्‍स से ग्रेजुएशन की और फिर भागलपुर विश्वविद्यालय से ही 2007 में इको में ही एमए भी किया ।

शादी के बाद पहुंची न्‍यूजीलैंड
पोस्‍ट ग्रेजुएशन के बाद ही शानिनी के माता पिता ने उनके लिए गया (बिहार) के टेकारी निवासी आईआईटियन अशोक कुमार को उनके लिए पसंद कर लिया । जिनसे उनकी शादी हो गई । 2009 में वो अपने पति के साथ न्‍यूजीलैंड चली गईं । उनके पति अशोक कुमार न्यूजीलैंड में इंजीनियर हैं । शादी के बाद दो प्‍यारे बच्चों की मां बनीं शानिनी ने अपनी एजुकेशन को कभी थमने नहीं दिया । परिवार, गहस्‍थी, नौकरी सबमें तालमेल रखने वाली शानिनी आज सबके लिए प्रेरणा की वजह बन गई हैं ।