अधिकमास में करें ये 10 उपाय, धन प्राप्ति का शुभ समय

अधिकमास को पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता है। श्रीमद्भागवत पुराण में इस माह का विशेष महत्व बताया गया है।इस माह में धन लाभ के योग बहुत ही प्रबल होते हैं, कुछ विशेष उपाय कर आप इस मास में धन प्राप्ति के द्वार स्‍वयं के लिए खोल सकते हैं । 

New Delhi, May 17 : हिन्दू कैलेंडर में, ज्येष्ठ या जेठ का महीना तीसरा महीना है । इस महीने सूर्य प्रचंड शक्तिमान होता है, इस महीने में भयंकर गर्मी का प्रकोप होता है । हिंदू केलेंडर में जेठ के महीने में सूर्य देव के साथ ही जल देव यानी वरुण देव की उपासना भी की जाती है । हिंदू कैलेंडर के अनुसार इस वर्ष दो ज्येष्ठ मास होंगे । एक ज्येष्ठ मास और दूसरा ज्येष्ठ अधिकमास । अधिकमास को पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता है। श्रीमद्भागवत पुराण में इस माह का विशेष महत्व बताया गया है।

Advertisement

धर्म कर्म करें, पुण्‍य फल प्राप्‍त करें
अधिकमास में धर्म-कर्म करने की सलाह धर्म के जानकार देते हैं । ऐसे माना जाता हे कि इस समय में भागवत कथा की जाए तो उसका अक्षय पुण्य मिलता है । भगवान श्रीकृष्ण की कृपा मिलती है, समस्‍त परेशानियां भी दूर हो जाती है । इस माह में धन लाभ के योग बहुत ही प्रबल होते हैं, कुछ विशेष उपाय कर आप इस मास में धन प्राप्ति के द्वार स्‍वयं के लिए खोल सकते हैं । आगे जानिए वो उपाय ।

Advertisement

विष्‍णु-लक्ष्‍मी की पूजा करें
अगर आप धन लाभ पाना चाहते हैं तो अधिकमास में रोज सुबह भगवान विष्णु और लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए। लक्ष्मी पूजा में दक्षिणावर्ती शंख, पीली कौड़ी, हल्दी की गांठ, गोमती चक्र, श्रीयंत्र भी रखें।
महालक्ष्‍मी के चरण चिन्‍ह – बुधवार को लक्ष्मी-विष्णु पूजा के बाद घर के मुख्य द्वार पर महालक्ष्मी के चरण चिह्न लगाएं। चरण चिह्न घर के अंदर प्रवेश करते हुए लगाना चाहिए। रोज सुबह लक्ष्मी के चरणों की पूजा करें।

सूर्य को जल चढ़ाएं
रोज सुबह जल्दी उठें और उठते ही दोनों हथेलियां देखें। स्नान के बाद तांबे के लोटे से सूर्य को जल चढ़ाएं। सूर्य को जल चढ़ाते समय ऊँ आदित्याय नम: मंत्र का जाप करें।
गीता का पाठ करें – घर के मंदिर में रोज कुछ देर श्रीमद्भागवत का पाठ करें। इस उपाय श्रीकृष्ण की कृपा मिलती है।

कृष्‍ण को लगाएं भोग
श्रीकृष्ण के बाल स्वरूप बाल गोपाल को माखन-मिश्री का भोग लगाएं। उनसे प्रार्थना करें कि वो आप पर अपने नन्‍हे हाथों से कृपा बरसाते रहें । आप पर बाल कृष्‍णा का आशीर्वाद हमेशा बना रहेगा ।
शिव को चढ़ाएं ठंडा पानी – अभी गर्मी के दिन चल रहे हैं, इन दिनों में शिवलिंग पर ठंडा जल चढ़ाएं। इसके लिए चांदी के लोटे का उपयोग करेंगे तो शुभ रहेगा।

सरसों के तेल का दीपक
हनुमानजी के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाएं ।  ऊँ रामदूताय नम: मंत्र का जाप 108 बार करें। आपके जीवन से सारे कष्‍ट दूर होंगे और समस्‍त समस्‍याएं दूर हो जाएंगी ।
घी का दीपक जलाएं – रोज सूर्यास्त के बाद शिवलिंग के पास घी का दीपक जलाएं और महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें। मंत्र- ऊँ भूर्भुवः स्वः ऊँ त्र्यम्‍बकंयजामहे सुगन्धिंपुष्टिवर्धनम् उर्वारुकमिव बन्‍धनान् मृत्‍योर्मुक्षीय मामृतात्।

गणपति के दर्शन करें
रोज सुबह घर से निकलने से पहले प्रथम पूज्‍स श्री गणेपति के दर्शन करें और इसके बाद ही काम की शुरुआत करें । गणेश जी का आशीर्वाद लेकर कोई भी काम शुरू करेंगे तो आपको फायदा ही फायदा होगा ।
गाय की सेवा – रोज सुबह पहली रोटी गाय को खिलाएं । गाय हिंदू धर्म में देवी समान है ओर मनुष्‍यों के लिए बहुत ही प्रकार से लाभदायक भी । इसके अलावा मछलियों को आटे की गोलियां खिलाएं ।