क्‍या आप जानते हैं देसी घी खाने का सही तरीका क्‍या है ? कहीं आप इसका गलत तरीके से तो सेवन नहीं कर रहे ?

अब जब आयुर्वेद ही नहीं बल्कि विज्ञान भी कह रहा है कि देसी घी खाने से नुकसान नहीं, फायदे ज्‍यादा हैं तो आप क्‍या सोच रहे हैं देसी घी को अपनी रोजमर्रा की डायट में शामिल करें और इसके फायदे उठाएं ।

New Delhi, Sep 8 : देसी घी बहुत सारे पोष्टिक तत्‍वों का खजाना है । इसमें मौजूद वसा तत्‍व शरीर के लिए जरूरी माने गए हैं और नियत मात्रा में खाने से ना तो ये आपके वजन को बढ़ाती है और ना ही कॉलेस्‍ट्रॉल ही बढ़ता है । लेकिन देसी घी खाने का सही तरीका क्‍या है । क्‍या देसी घी में खाना पकाना सही है या इसे कच्‍चा खाना बेहतर है । देसी घी किस तरह से खाया जाए, आगे जानिए देसी घी खाने का सही तरीका क्‍या माना गया है ।

Advertisement

औषधि है देसी घी
घी को कलेरिफाइड बटर कहा जाता है, भारत में इसका प्रयोग प्राचीन काल से होता आ रहा है । भारत के अलावा घी साउथ एशिया, ईरान और अरेबियन कुजीन का हिस्‍सा है । इसका प्रयोग ओषधि के रूप में भी होता आया है साथ ही धार्मिक कार्यों में भी इसका इस्‍तेमाल होता है । विज्ञान जिस घी के फायदों की बात कर रहा है वो देसी गाय के दूध का बना घी होता है जिसमें स्‍वर्ण कण होते हैं, ऐसा माना गया है ।

Advertisement

घी बनाने का तरीका
देसी घी को गाय के शुद्ध दूध से तैयार किया जाता है । इसे दो तरीके से बनाया जाता है, दूध से निकली क्रीम द्वारा  या फिर दूध से दही और फिर दही के मक्‍खन से । मक्‍खन को गर्म आंच पर गर्म किया जाता है और फिर घी तैयार किया जाता है । घी का रंग, खुशबू, स्‍वाद सब दूध की गुणवत्‍ता पर निर्भर करता है ।

देसी घी में पाए जाने वाले गुण
आमतौर पर एक चम्‍मच शुद्ध देसी घी में 12.73 grams of fat पाया जाता है । जिसमें Saturated Fat = 7.926 grams, Monounsaturated fat = 3.678 grams और Polyunsaturated fat = 0.473 grams होते हैं । Mono और  Poly unsaturated fat is good fat माने गए हैं, लेकिन saturated fat शरीर के लिए बुरा माना गया है । हालांकि पुरुषों में testosterone हार्मोन के लेवल को बढ़ाने में ये काम करता है ।

2 से 3 चम्‍मच घी का सेवन लाभदायक
सामान्‍य स्‍वस्‍थ व्‍यक्ति रोजाना 15 grams. सैचुरेटेड फैट का सेवन कर सकता है । यानी आप एक दिन में 2 से 3 चम्‍मच देसी घी का सेवन आसानी से कर सकते हैं, ये आपकी शरीर को जरूरी फैट उपलब्‍ध कराएगा । अब सवाल है कि आप घी कैसे खाएं, घी में खाना पकाया जा सकता है । लेकिन इसके जलने पर इसके chemical composition में बदलाव आने लगते हैं । गुड कॉलेस्‍ट्रॉल की जगह ये बैड कॉलेस्ट्रॉल की ओर बढ़ जाता है । बावजूद इसके घी को किसी भी और कुकिंग ऑयल से बेहतर माना गया है, घी का स्‍मोक पॉइंट 252 degree Celsius होता है ।

इस तरह से खाएं देसी घी
हम आपको ये बताना चाहते हैं कि घी को कज्‍यूम करने का सबसे सही और सेहतमंद तरीका क्‍या है तो वो है घी को कच्‍चा खाना । कच्‍चा यानी रोटी के ऊपर लगाके खाना, या गरम चावल, दाल के ऊपर डालकर खाना । सब्‍जी या मीठी चीज के ऊपर एक चम्‍मच घी डालने से उसका स्‍वाद और पोषण दोनों ही बढ़ जाता है । घी को बिना गरम किए कच्‍चा ही सेवन करें । ये अति लाभदायी है । रोज सुबह गरम पानी में एक चम्‍मच देसी घी मिलाकर पीने से आपको पटे से जुड़ी कोई समस्‍या नहीं होती । दूध में घी मिलाकर पीने से ढेरों फायदे होते हैं ।
https://www.youtube.com/watch?v=6cAuZVgxUk4