रेहड़ी पर अंडे बेचने वाले इस शख्स ने कमाये 150 करोड़ रुपये, इस वजह से पुलिस ने किया था गिरफ्तार

शुभांगना राज और राजकुमार ने लव मैरिज की थी, राजकुमार शादी से पहले अंडे के ठेले लगाता था, लेकिन अगले कुछ ही साल में वो 150 करोड़ रुपये की संपत्ति का मालिक बन गया।

New Delhi, Aug 08 : जयपुर के चर्चित शुभांगना आत्महत्या केस में उनके पति राजकुमार सावलानी को पुलिस ने पिछले साल ही गिरफ्तार कर लिया था, अब कहा जा रहा है कि उन्हें जेल में वीआईपी सुविधाएं मिल रही है। पुलिस ने इस केस में जांच पूरी करने के बाद राजकुमार को दो बार नोटिस भेजा था, इसके बाद भी वो पूछताछ के लिये पुलिस के सामने पेश नहीं हुए, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। खैर, ये मामला कोर्ट में विचाराधीन है। हम आपको उनकी लव स्टोरी के बारे में बताते हैं।

Advertisement

अंडे बेचते-बेचते बन गया बिजनेसमैन
शुभांगना राज और राजकुमार ने लव मैरिज की थी, राजकुमार शादी से पहले अंडे के ठेले लगाता था, लेकिन अगले कुछ ही साल में वो 150 करोड़ रुपये की संपत्ति का मालिक बन गया। आपको बता दें कि जिस रात शुभांगना राज ने आत्महत्या किया था, तब राजकुमार सावलानी घर पर नहीं थे, उनके पत्नी को आत्महत्या के उकसाने और विवश करने का आरोप है।

Advertisement

ऐसे प्यार चढा परवान
राजकुमार सावलानी फिलहाल चाइना से इंपोर्ट का बिजनेस करते हैं, जबकि उनकी पत्नी जसोदा देवी कॉलेजेज एंड इंस्टीट्यूशंस की चेयरपर्सन थीं। शादी के पहले राजकुमार ठेले पर अंडे बेचता था, फिर उसने एमआई रोड पर एक कैसेट की दुकान खोली, शादी से पहले शुभांगना का नाम रुचिरा सुराणा था, एमआई रोड पर उनके पिता का ऑफिस था, उन्हें गाने सुनने का बड़ा शौक था, इसी वजह से वो राजकुमार की कैसेट की दुकान पर आने-जाने लगी। जिससे दोनों में पहचान हो गई।

घर वालों के खिलाफ जाकर की शादी
राजकुमार और शुभांगन के बीच नजदीकियां बढने लगी, दोनों अकसर एक-दूसरे के साथ समय बिताने लगे, फिर दोनों ने शादी करने का प्लान बनाया, लेकिन शुभांगना के घर वाले नहीं मानें, जिसके बाद दोनों ने घर वालों के खिलाफ जाकर शादी कर ली। राजकुमार और शुभांगना के दो बच्चे हैं, बड़ी बेटी का नाम वृद्धि सावलानी और बेटे का नाम मिहिर सावलानी है। शादी के बाद शुभांगना ने जसोदा देवी कॉलेजेज एंड इंस्टीट्यूशंस की शुरुआत की, वो इसकी चेयरपर्सन थीं।

खुद को बताया था 150 करोड़ का मालिक
पत्नी की मौत के चार दिन बाद पति राजकुमार ने अपना एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था, जिसमें उसने खुद को बेगुनाह बताया था, राजकुमार का कहना है कि उनकी पत्नी ने आत्महत्या नहीं की है, उसने मरने से एक दिन पहले अपने माता-पिता के घर गई थी, पत्नी ने पति के बताया कि उसके घर वालों ने उसे बहुत समझाया, कि वो अपने पति को छोड़ दे। उसके साथ रहने का कोई फायदा नहीं है, उसकी जो भी प्रॉपर्टी है, उसे तुम ले लो। इस वीडियो में राजकुमार ने खुद को 150 करोड़ की संपत्ति का मालिक बताया था।

ससुर हैं बड़े क्रिमिनल लॉयर
राजकुमार ने आरोप लगाते हुए कहा कि उनके ससुर प्रेम सुराणा नामी क्रिमिनल लॉयर हैं, वो केस को उलझाने की कोशिश कर रहे हैं, शुभांगना ने सुसाइड से पहले मुझे फोन किया था, उसने कहा था कि राजू हम दोनों एक साथ रहना चाहते हैं, लेकिन मेरे मम्मी-पापा ये नहीं चाहते हैं, कि हम साथ रहे, इसी वजह से मैं डिप्रेशन में रह रहीं हूं, मुझे काम नहीं संभल रहा है, राजकुमार ने आरोप लगाया कि मेरी पत्नी ने आत्महत्या की और इसका इल्जाम उन्होने मेरे सिर डाल दिया। मेरे पास करीब 150 करोड़ की प्रॉपर्टी है, जो मैंने अपनी मेहनत से कमाई है, अब वो मुझसे मेरी संपत्ति चाहती हैं, वो मुझे मेरे बच्चे से भी बात नहीं करने दे रहे।

क्या है मामला ?
बीते साल 25 अगस्त की रात शुभांगना अपने बेटे के साथ डिनर करने के बाद बेडरुम में सोने के लिये चली गई, फिर अगले दिन जब वो देर तक नहीं जगी, तो बेटे मिहिर और नौकरानी ने कमरे का दरवाजा खोला, तो अंदर वो फंदे लटकी मिली थी। राजकुमार ने बताया कि वारदात वाली रात वो सीतापुरा स्थित कॉलेज में रुके हुए थे, घटना की सूचना उनके बेटे ने फोन पर दी। पिछले कुछ दिनों से शुभांगना बीमार चल रही थी, वो अपने काम को लेकर परेशान थीं।