हनुमान जी की करते हैं पूजा तो भूलकर भी ना करें ये काम, बनेंगे महापाप के भागीदार  

हिंदू धर्म में हनुमान जी की पूजा मंगलवार के दिन करनी बहुत ही शुभ मानी गई है । इनकी आराधना शनिवार के दिन करनी भी बहुत ही उत्‍तम फल देती है । जानिए हनुमान पूजा से जुड़ी कुछ विशेष बातें ।

New Delhi, Aug 10 : हनुमान जी अपने भक्‍तों की पुकार बड़ी जल्‍दी सुन लेते हैं । भकत इन्‍हें संकटमोचक, बजरंगबली, सिद्धबली और अंजनी पुत्र जैसे कई नामों से बुलाते हैं । श्री राम के अनन्‍य भक्‍त हनुमान अपने भक्‍तों को कभी खाली हाथ नहीं जाने देते । यदि आप हनुमंत भक्ति में सच्‍ची श्रद्धा और आस्‍था के साथ विश्‍वास रखते हैं तो आपकी सारी समस्‍याएं आसानी से दूर होने लगती हैं । हनुमान जी की पूजा में कुछ बातों का ध्‍यान रखना अति आवश्‍यक है । इनकी पूजा में कुछ गलतियां भूल से भी नहीं होनी चाहिए । आगे जानिए ध्‍यान रखने योग्‍य ये बातें कौन सी हैं ।

Advertisement

हनुमान जी इस बात से हो जाते हैं नाराज
शास्त्रों में कहा गया है ईश्‍वर की भक्ति मन से करो तो मुराद पूरी होती है और अगर काले मन से करो उसका फल्‍ भी भोगना पड़ता है । हनुमान मंदिर के अंदर जब आप जाएं तो ईश्‍वर भक्ति के साथ कुछ बातों का विशेष ध्‍यान रखें । ऐसे काम जिन्‍हें करने से ईश्‍वर आपसे नाराज हो सकते हैं, वो काम जिन्‍हें देखकर भगवान आप पर कुपित हो सकते हैं । आपकी मनोकामनाएं पूर्ण करने की जगह भगवान आपसे खुश नहीं रहते ।

Advertisement

इन नियमों का करें पालन
मंदिर एक बहुत ही पवित्र स्‍थान माना जाता है । मंदिर के अंदर किसी भी महिला को गलत नज़रों से देखना  घोर पाप की श्रेणी में आता हैं । हनुमान जी स्‍वयं एक बाल ब्रह्मचारी थे । ऐसे में उन्हें इस तरह की भावनाएं और गलत ख्याल अपने मंदिर में पसंद नहीं आते हैं ।  जो भी व्यक्ति मंदिर के अंदर ऐसे ख्याल लाता हैं उसे हनुमान जी किसी ना किसी रूप में सजा जरूर देते हैं । इसलिए मंदिर में अपना मन अवश्‍य साफ रखें ।

चमड़े से बनी वस्‍तुओं के साथ प्रवेश ना करें
हनुमान जी के मंदिर में ही नहीं अपितु हमें किसी भी मंदिर में चमड़े से बनी कोई भी चीज लेकर प्रवेश नहीं करना चाहिए । जूते-चप्पल तो हम वैसे भी बाहर उतार देते हैं, इसके अलावा चमड़े की बनी बेल्ट, पर्स या जैकेट जैसी चीजें भी हनुमान मंदिर में नहीं ले जानी चाहिए । इन चीजों के साथ मंदिर में प्रवेश वर्जित माना गया है । ऐसा ना करने से आप पर भगवान की कृपा नहीं होती है ।

गाली-गलौज से बचें
मंदिर के अंदर अपशब्दों का प्रयोग बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। गलती से, हंसी मजाक में या फिर कैजुअली किसी भी तरह से अपशब्‍द आपके मुंह से बाहर नहीं आने चाहिए । मंदिर का परिसर अपशब्‍दों के लिए नहीं बना है । यहां ऐसे शब्‍दों का प्रयोग कर आप मंदिर की पवित्रता को भंग करते हैं । मंदिर के अंदर आपका ऐसा करना आपके लिए सही नहीं है । हनुमान जी को आपके ऐसे काम अच्‍छे नहीं लगते, इसलिए इससे बचें ।

पूरी भक्ति से करें आराधना
हनुमान मंदिर में कभी भी बुरे विचार या हीन भावनाओं को लेकर प्रवेश नहीं करना चाहिए । मंदिर का माहोल हमेशा सकारात्मक ऊर्जा से भरपूर होता है । ऐसे में जब कोई व्यक्ति मन में बुरे विचार या फिर गलत विचार लाता है तो माहौल में नकारात्मकता फैल जाती है हनुमान जी को ऐसा बिलकुल पसंद नहीं हैं । ऐसा करने से वो आप से नाराजहो सकते हैं। साथ ही ऐसा करने से आप पाप के भागीदार भी बनते है।

लड़ाई – झगड़ा ना करें
हनुमान मंदिर के अंदर लड़ाई-झगड़ा कभी नहीं करना चाहिए । मंदिर के अंदर आप किसी से कोई अनबन ना करें । कहासुनी, गुस्‍सा होना, किसी तरह की किसी से नाराजगी पैदा करना, बच्‍चे को डांटना जैसे कोई भी काम ना करें । मंदिर का माहौल भी खराब होता है और भगवान आपसे नाराज भी हारे सकते हैं ।