चांद को इतने करीब से किसी ने नहीं दिखाया होगा, 16 साल के इस बच्‍चे की चर्चा, अद्भुत तस्‍वीरें

चांद की ये तस्‍वीरें उन्‍होंने तीन मई की रात को कैप्चर की हैं, करीब चार घंटे तक वीडियो और तस्वीरें कैप्चर करने के बाद इसे प्रोसेस करने में 38-40 घंटे लग गए ।

New Delhi, May 20: चांद को करीब से देखने की इच्‍छा हर किसी में होती हैं, रात को आसमान में चमकता चांद हमेशा आकर्षण का प्रतीक माना गया है, इसकी तस्वीरें हमेशा चर्चा का विषय रहते हैं । अब महाराष्ट्र के पुणे में रहने वाले एक 16 साल के लड़के ने ऐसा कमाल कर दिया कि वह दुनिया भर में चर्चित हो गया है, अपने खास चांद की वजह से । दरअसल इस लड़के में चांद की 50 हजार से ज्यादा तस्वीरें खींचकर दुनिया को इसका अक तक का सबसे अद्भुत नजारा दिखा दिया है ।

चांद की रंगीन तस्‍वीर
पुणे के इस 16 वर्षीय युवा का नाम है प्रथमेश जाजू, जिसने पहले चांद की पचास हजार से ज्यादा तस्वीरें खींची । फिर 40 घंटे से भी ज्‍यादा समय में उन्‍हें एक साथ कम्पाइल कर दिया और चांद की एक बेहद खूबसूरत 3डी रंगीन तस्वीर दिखाकर सबको चौंका दिया । प्रथमेश ने ये सारी तस्वीरें अपने इंस्टाग्राम पर शेयर की हैं ।

शौकिया फोटोग्राफर
प्रथमेश जाजू का इंस्‍टाग्राम पेज देखें तो पता चलता है कि वो प्रकृति खास तौर पर आकाशीय दुनिया के दीवाने हैं । वो खुद को एक शौकिया खगोलशास्त्री और खगोल फोटोग्राफर कहते हैं । प्रथमेश ने अपनी इन तस्वीरों के बारे में बात करते हुए इसकी पूरी कहानी सुनाई । एएनआई के साथ एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि चांद की ये तस्‍वीरें उन्‍होंने तीन मई की रात को कैप्चर की हैं, करीब चार घंटे तक वीडियो और तस्वीरें कैप्चर करने के बाद इसे प्रोसेस करने में 38-40 घंटे लग गए ।

चांद की सबसे अच्‍छी तस्‍वीर उतराना चाहता थे प्रथमेश
प्रदथमेश जाजू ने कहा कि पचास हजार तस्वीरों के पीछे की वजह चांद की सबसे अच्छी तस्वीर उतारना था, उन्होंने सभी तस्वीरों को एक साथ कम्पाइल किया है । उन्होंने जो तस्वीरें कैप्चर की थीं वे 186 गीगाबाइट डेटा से भी अधिक हैं । इसी वजह से इन इमेज को प्रोसेस करने में उनके लैपटॉप की जान निकल गई, लेकिन जब काम पूरा हुआ तो 50 मेगापिक्सल की यह तस्वीर बनकर तैयार हुई । प्रथमेश ने बताया कि उन्‍हांने ये सब यूट्यूब से सीखा है, तस्वीरों को कैप्चर करने और प्रोसेसिंग के बारे में पहले जानकारी इकट्ठा की फिर इस काम को अंजाम दिया । प्रथमेश, ऐस्ट्रोफिजिसिस्ट बनाना चाहते हैं, फिलहाल ऐस्ट्रोफटॉग्रफी एक हॉबी है । जाजू पुणे के विद्या भवन स्कूल में कक्षा 10 के छात्र हैं ।

https://www.instagram.com/p/COiTQQSJZy8/