लड़की ने लिया था ‘फिश स्‍पा’, घर जाकर रहने लगी बीमार, डॉक्‍टर को दिखाया तो बीमारी सुन दहल गया दिल

पैरों की सुंदरता बढ़ाने के लिए फिश स्‍पा कराने गई लड़की को एक ऐसे भयानक इनफेक्‍शन ने घेर लिया जिसके बारे में सुनकर वो और उसके परिवार वाले दहल गए । सहमा देने वाली ये खबर जरूर पढ़ें ।

New Delhi, Sep 14 : पैरों की सफाई के लिए करवाए जाने वाले फिश स्‍पा से आप बखूबी वाकिफ होंगे । ये एक खास तरह की मछलियां होती हैं, जिनसे भरे पानी के टैंक में आपको पैर डालना होता है । ये आपके पैरों की डेड स्किन को खा लेती हैं और पैर एकदम तरोताजा फील होने लगते हैं । लेकिन इसे करवाने से पहले ये खबर जरूर जान लें । ऐसा ना हो कि सुंदरता बढ़ाने की जबह ये आपके पैरों का हाल कुछ ऐसा कर दें जैसे विक्‍टोरिया का हुआ ।

Advertisement

फिश स्‍पा से हुआ इनफेक्‍शन
ये कहानी ऑस्‍ट्रेलिया में रहने वाली लड़की विक्‍टोरिया की है । जिसने पैरों की सफाई के लिए फिश स्‍पा करवाया, लेकिन वहां से वापस आने के  बाद उसके पैरों में लगातार दर्द रहने लगा । एक उंगली में घाव हो गया । उसे उल्टियां होनी शुरू हो गई । जब डॉक्‍टर के पास गए तो ऐसा इनफेक्‍शन पता चला कि विक्‍टोरिया के होश उड़ गए । डॉक्‍टरों को उसकी पांचों उंगलियां काटनी पड़ीं ।

Advertisement

पहले से कटी हुई थी एक उंगली
विक्‍टोरिया के दांएं पैर की एक उंगली पहले से ही कटी हुई थी । 17 साल की उम्र में उसके पैर में कांच घुस गया था, जिसकी वजह से डॉक्‍टरों को उसकी एक उंगली काटनी पड़ी थी । साल 2010 में विक्‍टोरिया थाईलैंड गई थी, जहां उसने फुट फिश स्‍पा कराया था । फिश स्‍पा आमतौर पर सुरक्षित माना जाता है लेकिन विकटोरिया के मामले में ऐसा नहीं हुआ ।

बोन ईटिंग इनफेक्‍शन
स्पा के दौरान उसकी कटी हुई उंगली शेवानेल नाम का बैक्टीरिया से संक्रमित हो गई । इस बैक्‍टीरिया ने विक्‍टोरिया को ‘बोन इटिंग’ इंफेक्शन से पीडि़त कर दिया । एक उंगली से बढ़कर ये इनफेक्‍शन विकटोरिया के पूरे पंजे में फैल गया । धीरे-धीरे कर उसका दायां पंजा सड़ने लगा । इनफेकशन जब बढ़ रहा थ्‍था तो उस दौरान विकटोरिया को उल्टियां आदि हो रही थी ।

दो साल के लंबे इलाज के बाद ये बीमारी पता चली
शुरुआत में ये रोग डॉक्‍टरों की समझ से भी बाहर था लेकिन दो साल के लंबे इलाज के बाद ये बीमारी पता चली । उसकी पहले से कटी उंगली में घव सड़ गया था डॉक्‍टरों ने तब उसके पैर की बड़ी उंगली को काटने का फैसला किया । उममीद की जा रही थी कि उसका पैर अब सामान्‍य हो जाएगा लेकिन असल में ऐसा कुछ नहीं हुआ । 2016 में विक्‍टोरिया की तबीयत और बिगड़ने लगी ।

सारी उंगलिया काटनी पड़ीं
साल 2016 में उसकी तबीयत एक बार फिर खराब हुई तो नवंबर में डॉक्‍टर ने उसकी बाकी दो उंगलियों को भी काट दिया गया । लेकिन 2017 में बसके पैर में बची हुई एक और उंगली को डॉक्‍टरों ने बोन इनफेक्‍शन के चलते काट दिया । विक्‍टोरिया का पैर अब सामान्‍य हो गया है, बिना उंगलियों वाले पंजे दिखने में असामान्‍य हैं लेकिन पिछले कुछ सालों के दर्द के मुकाबले विक्‍टोरिया अब राहत महसूस करती हैं । ऐसा किसी और  के साथ ना हो इसके लिए वो लोगों को फिश स्‍पा के लिए जागरूक भी कर रही हैं  ।